Monday, 30 May 2016

how to get success? some important talks ? कैसे पाएं सफलता? कुछ ज़रूरी बातें!


कैसे पाएं सफलता? कुछ ज़रूरी बातें!

कुछ जरुरी बातों को ध्यान में रखकर सफलता को आसानी से प्राप्त किया जा सकता है|
कैसे पाएं सफलता? कुछ ज़रूरी बातें!
सफलता का कोई शॉर्टकट नहीं है इसके लिए आपको मेहनत जरूर करनी पड़ती है मेहनत करोगे तो ही आपको सफलता प्राप्त होगी |
--बहुत से लोगों ने successful होने के बहुत से तरीके बताये हैं. इस subject को लेकर आपने ढेर सारी किताबें पढ़ी हैं, कई blogs पढ़ें हैं और काफी लोगों ने success seminars भी attend किये हैं. And the good thing is कि कुछ लोगों ने इन चीजों का फायदा उठा कर अपनी life को successful बनाया भी है.
पर ये भी एक सच है कि इन तमाम चीजों को करने के बावजूद अधिकतर लोग सफलता नही पा पाते! शायद बहुत सारे tips या inputs मिलने की वजह से वे इस पूरे process को बहुत complex समझ लेते हैं और उन्हें clear नहीं हो पाता कि actually सफल होने के लिए करना क्या है ? इसीलिए आज मैं आपके साथ Successful होने का एक बड़ा ही straight forward और effective तरीका share कर रहा हूँ.
तो आइये जानते हैं उन तीन ज़रूरी बातों को जो हमें सफलता दिला सकती हैं :
पहली बात: 1 line का लक्ष्य बनाएं
सफलता क्या है?
अपने लक्ष्य को पाना ही सफलता है. इसलिए अगर सफल होना है तो पहले आपको अपना एक लक्ष्य निर्धारित करना होगा.
कई बार लोग कहते हैं, “ I want to be a successful person?” पर उनके दिमाग में इस बात की clarity नहीं होती कि successful person होने का मतलब क्या है ?
हो सकता है आपके लिए इसका मतलब हो – “ एक अच्छा सा घर…अच्छी सी नौकरी…अच्छी सी family…” but ये success की बहुत generalized definition हुई…. कौन जानता है किसके लिए क्या “अच्छा ” है. इसलिए आप अपने लिए Success की एक clear cut and concise definition तैयार करिए…ऐसी definition जिसे आप बार -बार अपने दिमाग में repeat कर सकें, जिसे बोलते ही आपकी आँखों में चमक आ जाये जो आपको एक challenge के साथ- साथ एक achievement का भी एहसास करा सके.
For example:
आपको भी अपने लिए success को एक line में define करना होगा…ये कुछ भी हो सकता है — जैसे कि आपको RAS अधिकारी बनना है तो आप उसके लिए दृढ़ संकल्प करेंगे और बनकर दिखाएंगे ||
Goal define करते समय इन बातों का ध्यान रखें :
Goal बड़ा बनाएं! कितना बड़ा ? उतना बड़ा जितना आप सोच सकते हैं और जिसे आप दिलो दिमाग से accept कर सकते हैं की हाँ अगर आप अपनी पूरी ताकत झोंक दें तो आप उस लक्ष्य को हासिल कर सकते हैं!
For instance: कोई लक्ष्य बना सकता है “ मुझे दुनिया का सबसे अमीर आदमी बनना है ” अगर वो इसे दिलो-जान से believe कर पा रहा है तो well and good लेकिन अगर नहीं कर पा रहा है तो उससे बेहतर होगा, “मुझे 50 करोड़ रूपये कमाने हैं ”
What I mean to say is कि आपका लक्ष्य आपको motivate करने वाला हो…वो ऐसा न हो कि उसे बोलते ही अंदर से आवाज़ आये…..” ये कहाँ हो पायेगा…” बल्कि उसे बोलते ही आप charged up महसूस करें…कि हाँ यही वो चीज है जो मुझे किसी भी कीमत पर चाहिए….YES यही करना है मुझे!
एक बात और जो ध्यान देने वाली है कि आपको “Goal” बनाना है “ Goals” नहीं. हो सकता है कुछ लोग इस बात से agree न करें पर मेरा मानना है की एक समय में आप सिर्फ और सिर्फ एक GOAL बनाइये. ख़ास तौर से वो लोग जो पहली बार किसी बड़ी सफलता का स्वाद चखना चाहते हैं…उन्हें goals के चक्कर में नहीं पड़ना चाहिए और सिर्फ और सिर्फ एक goal बनाना चाहिए. अगर आप अलग-अलग गोल्स को लेकर दुविधा में हैं तो उस एक गोल को चुनें जो आपकी life पर सबसे अधिक positive impact डाले, और फिर अपनी पूरी उर्जा उसी एक गोल को पाने में लगा दें!
बहुत पहले Goal से related मैंने एक पोस्ट लिखी थी – “ जीवन में लक्ष्य का होना ज़रूरी क्यों है ?“. चाहें तो आप इसे पढ़ सकते हैं.
दूसरी बात: Focussed Hard Work करें
Goal बनाने के बाद दूसरा step है उस Goal पर focussed रहना और उसे achieve करने के लिए कड़ी मेहनत करना.
किसी चीज पर focussed रहने का क्या मतलब है ?
इस बात को समझाने के लिए मैं हमेशा Swami Vivekanand जी की कही ये बात quote करता हूँ –
एक idea लो. उस idea को अपनी life बना लो – उसके बारे में सोचो उसके सपने देखो, उस idea को जियो. अपने दिमाग, muscles, nerves, शरीर के हर हिस्से को उस आईडिया में डूब जाने दो, और बाकी सभी ideas को किनारे रख दो. यही सफल होने का तरीका है, यही वो तरीका है जिससे महान लोग निर्मित होते हैं.
Friends, ज्यादातर लोग life में इसलिए असलफल नही रह जाते क्योंकि उनके अंदर सफल होने की काबिलियत नहीं होती बल्कि वे इसलिए असफल हो जाते हैं क्योंकि वे लम्बे समय तक एक ही लक्ष्य पर अपना ध्यान नहीं लगा पाते.
अगर आपको सफल होना है तो आपको Focussed हो कर अपने goals का पीछा करना होगा…रास्ते में तमाम नयी opportunities आपको distract करने की कोशिश करेंगी…कोई business plan समझायेगा, तो कोई आपको जल्दी से अमीर बनने का रास्ता दिखायेगा … तो कोई अच्छी नौकरी का offer देगा….पर आपको इन सबको ठुकराना है.
जैसे आपको बिजनेस करना है और इसके बीच में यदि आपको कोई जॉब ऑफर होती है| तो आप उसे ठुकरा सकते हैं| क्योंकि उसने आपको डरने की आवश्यकता नहीं है क्योंकि वह आपका लक्ष्य नहीं है| तो आप अपने लक्ष्य पर ही फोकस करें| अन्य चीजों पर ध्यान ना दें क्योंकि जब आप अपने लक्ष्य को लेकर passionate होते हैं तो सब बेकार लगता है और उन्हें छोड़ना या हाथ से जाने देना बहुत आसान होता है!
दोस्तों, चाहे जितनी भी distractions आ जाएं आपको सिर्फ और सिर्फ अपना लक्ष्य प्राप्त करना है और कुछ नहीं! फिर दूसरी चीजें चाहे कितनी भी attractive हों, उसमे कितना ही पैसा हो…कितनी ही शौहरत हो….नहीं चाहिए….मुझे अपनी life में सिर्फ और सिर्फ एक चीज चाहिए……मेरा लक्ष्य और कुछ नहीं!
और ये लक्ष्य मिलेगा कड़ी मेहनत से…. बहुत से लोग SMART work की बात करते हैं…but don’t confuse it with Easy Work…. SMART work actually means…कि आप Hard work smartly करते हैं.
कठोर परिश्रम का कोई विकल्प नहीं है.
और यकीन जानिये अभी तक इसका कोई विकल्प नहीं मिल पाया है!
इसलिए अगर आपको अपना लक्ष्य प्राप्त करना है तो कड़ी मेहनत करनी होगी…लगातार…हर रोज…जब तक आपका लक्ष्य न मिल जाए!
आपको time wasters को किनारे करना होगा…mobile switch off करना होगा…
facebook signout करना होगा , whatsapp disable करना होगा…दोस्तों को… family members को “ना” करना सीखना होगा…आपको सुबह जल्दी उठना होगा या रात को देर तक काम करना होगा…आपको अपना हर लम्हा लक्ष्य को पाने में लगाना होगा and believe me जब आप ऐसा करेंगे तो बड़े से बड़ा लक्ष्य भी आपको achievable लगने लगेगा!
आज तक जितने भी achievers हुए हैं-
महात्मा गांधी से लेकर नरेंद्र मोदी तक
अमिताभ बच्चन से लेकर सचिन तेंदुलकर तक
सानिया से लेकर साइना तक….
हर किसी ने बड़ी मेहनत की है हर किसी ने कड़ी मेहनत की है….success की लड़ाई में कड़ी मेहनत ही आपका ब्रह्मास्त्र है..इसकी ताकत के आगे पहाड़ों तक को झुकना पड़ता है ….इसका इस्तेमाल करिये…सारे challenges…सारी अड़चने… सारी बाधाओं को अपने सामने झुका  दीजिये और सफलता को अपनी मुट्ठी में भर लीजिये!
--तीसरी और आखिरी बात: Enthusiasm बनाये रखें
आप अपने goal को लेकर clear हैं…आप focussed hard work भी कर रहे हैं पर एक चीज और है जो success पाने के लिए मुझे बेहद ज़रूरी लगती है…
और वो चीज है जोश या उत्साह.
यहाँ जोश का मतलब नाचना – गाना या super excited होकर अपनी emotions show करना नहीं है…जोश का मतलब internally charged up होने से है…
इसका मतलब अपने goal को लेकर अंदर से अच्छा feel करने से है…अपने efforts को लेकर उत्साहित रहने से है…जब आदमी जोश में काम कर रहा होता है तो वो extra efforts डालने के लिए तैयार रहता है…वो अपने लक्ष्य को पाने के लिए अनदेखे रास्तों पर चलने को तैयार रहता है, वो सिर्फ conventional wisdom पर नही चलता बल्कि नए innovative तरीकों को अपनाने के लिए भी ready रहता है…उसका दिमाग सोचता रहता है कि मैं कैसे अपने mission को possible बना सकता हूँ… मैं कैसे अपने dreams को reality में convert कर सकता हूँ!
Ralph Waldo Emerson ने कहा है-
Nothing great was ever achieved without enthusiasm. / बिना उत्साह के कभी कोई महान उपलब्धि हासिल नहीं की गयी है.
इसलिए अपने लक्ष्य को लेकर अक्सर उत्साहित रहे.. अक्सर इसलिए क्योंकि
हमेशा ऐसा होना practical नहीं है, ना चाहते हुए भी situations circumstances आपका एनर्जी लेवल, आपका मोराल डाउन कर सकते हैं… that’s ok… ये सबके साथ होता है. बस ज़रूरत ये है कि आप फिर से उसी उत्साह उसी मोराल को वापस पा लें…और ऐसा करना तब थोड़ा आसान होगा जब आप अपना लक्ष्य ये देखकर नहीं बनाएं कि और लोग आपसे क्या चाहते हैं बल्कि ये सोचकर बनाएं कि आप खुद से अपने लिए क्या चाहते हैं!
इसके अलावा अपना उत्साह बरकरार रखने के लिए आप motivational books , videos और blogs का सहारा भी ले सकते हैं…आप कुछ mini-milestones decide कर सकते हैं और उसे अचीव करने पर celebrate कर सकते हैं…जो भी करें… जैसे भी करें पर अपना enthusiasm बनाये रखें… ऐसा करना बिना थके आपको आपके लक्ष्य के करीब पहुंचा देगा!
अंत में एक और चीज जो मैं गोल के बारे में कहना चाहता हूँ, वो ये कि अकसर Goal को Time Bound बनाने की सलाह दी जाती है, बहुत से cases में ये सही भी है…पर मुझे लगता है कि life के सबसे ज़रूरी goals को समय से नहीं बाँधा जाना चाहिए…बल्कि उनका रिश्ता आपके उत्साह के साथ होना चाहिए!
ये मायने नहीं रखता की लक्ष्य का पीछा करते हुए 1 साल बीता…दो साल बीता या दस साल बीता…अगर उत्साह ज़िंदा है तो लक्ष्य को पाने की मेरी लड़ाई ज़िंदा है…..और जब तक मेरी लड़ाई ज़िंदा है तब तक मैं जीत सकता हूँ ….
मैं रुकुंगा नहीं मैं झुकूंगा नहीं…
लड़खड़ाउं-गिरुं पर थमूंगा नहीं…
है जोश मुझमें मैं चलता रहूँगा…
जो है लक्ष्य मेरा मैं पाकर रहूँगा…
--तो यदि आदमी का लक्ष्य व इरादा मजबूत हो तो उसे सफलता पाने से कोई नहीं रोक सकता तो हर व्यक्ति को अपने लक्ष्य को पूरा करने का जुनून होना चाहिए और उसे प्राप्त करना चाहिए चाहे कितना भी समय क्यों न लग जाए यदि आप कड़ी मेहनत के साथ अपने लक्ष्य की ओर बढ़ते हैं तो आप अपने लक्ष्य को प्राप्त करते ही हैं क्योंकि मेहनत करने वालों की कभी हार नहीं होती वह अंतत अपना लक्ष्य प्राप्त करते ही है|

as341305@gmail.com

Saturday, 28 May 2016

chankya neeti चाणक्य नीति- इन तीन चीजों से बना कर रखें उचित दूरी ??


चाणक्य नीति- इन तीन चीजों से बना कर रखें उचित दूरी ??

--चाणक्य की कई बातें आज भी उतनी ही प्रासंगिक हैं जितनी हज़ारों साल पहले थीं। उन्ही में से एक है चौदहवें अध्याय में बतायी गयी ये बात –
--ये अच्छा होगा यदि आप राजा, अग्नि और स्त्री से उचित दूरी बना कर रखें। और भी ध्यान रखें कि आप इनसे कुछ ज्यादा ही दूर न हो जाएं अन्यथा आप इनसे मिलने वाले लाभ से वंचित रह जायेंगे।|
It will be good if you remain at a safe distance from the king, fire, and women. Also, don’t stay too far from them otherwise, you will get deprived of the rewards.
Mins--आप राजा, आग, और महिलाओं से एक सुरक्षित दूरी पर रहते हैं, तो यह अच्छा रहेगा। इसके अलावा, बहुत दूर से उन्हें अन्यथा रहने नहीं, आप का पुरस्कार से वंचित हो जाएगा।
आइये इस बात को थोड़ी गहराई से समझते हैं और इसे आज के परिपेक्ष्य में fit करने की कोशिश करते हैं।
--पहले हम राजा, अग्नि और स्त्री का अर्थ समझते हैं:
राजा का अर्थ है किसी बड़े पद का व्यक्ति, कोई ऐसा इंसान जिसके पास कुछ करने की authority हो, जैसे कि आपका manager या boss, कोई नेता, मंत्री etc.
अग्नि का आशय किसी risk से है, और स्त्री से मतलब है भोग-विलास या सुख-सुविधा भरी चीजों से।
तो पहला question ये है कि “राजा” से उचित दूरी क्यों बनायीं जाए?
इस बात को कई तरह से interpret किया जा सकता है, ध्यान रहे कि ये एक general interpretation है और सभी जगह सही बैठे ये ज़रूरी नहीं –
जो अथॉरिटी वाले व्यक् उन्हें कहीं न कहीं अपने राज खुल जाने और सत्ता छिन जाने का डर रहता है। यदि आप उनके बहुत करीब हो जाते हैं तो obviously आप उनके बारे में कई ऐसी बातें जान जाते हैं जो यदि सभी लोग जान जाएं तो ये उनके लिए ठीक नहीं रहता। इसलिए बहुत बार ऐसे लोग अपने सबसे करीबी लोगों के लिए ही घातक हो जाते हैं। चाणक्य का ऐसे लोगों से दूर रहने की सलाह देने का ये एक बड़ा कारण हो सकता है।
इसके आलावा, अधिक की position तक पहुँचते-पहुँचते कहीं न कहीं दुश्मन भी बढ़ जाते हैं और अगर आप ऐसे किसी व्यक्ति के बहुत करीब हैं तो आपको भी नुक्सान पहुँच सकता है।
ऐसे लोगों का बहुत करीब आपके ऊपर बेकार के काम का बोझ भी पड़ सकता है। शायद आपने ऑफिस में देखा होगा कि जो बॉस की बहुत जी हजुरी करता है उसे उनके बहुत से पर्सनल काम भी करने पड़ते हैं। और फिर वे अपने बच्चों, अपने परिवार को सही समय नही दे पाते।
यानि कुल मिला जुलाकर चाणक्य नीति पे चलें तो हमें ऐसे लोगों से मधुर सम्बन्ध बना कर रखने चाहिएं क्योंकि समय पर ये लोग हमारे बहुत काम आ सकते हैं पर इनसे बहुत अधिक घनिष्टता नहीं बनानी चाहिए नहीं तो वो हमें लाभ से कही अधिक हानि पहुंचा सकते हैं।
--अब आते हैं दूसरी बात पर- अग्नि यानि risk या खतरे से उचित दूरी क्यों बनायीं जाए?
यहाँ, ये बात ध्यान देने कि है कि चाणक्य एकदम से रिस्क लेने से मना नहीं कर रहे, बस वो बेकार का रिस्क या अत्यधिक जोखिम ना उठाने की सलाह दे रहे हैं। क्योंकि ऐसा करके आप अपना जीवन या अपनी पूरी जमां पूजी खतरे में डाल सकते हैं।
अगर आज कल की बात करें तो हमे कई ऐसे लोग मिल जायेंगे जो अपनी सारी सेविंग्स शेयर बाज़ार या जुएँ में गँवा बैठते हैं। हमें calculated risk ज़रूर लेने चाहिएं पर उसकी सीमा और उसके impact को समझना चाहिए और बिना किसी लॉजिक के बहुत बड़ा रिस्क नहीं उठाना चाहिए।
For example: Business start करना एक रिस्क है पर हम इसे किस तरह स्टार्ट करते करते हैं बताता है कि ये कितना बड़ा रिस्क है। यदि आप एक ही बार इधर-उधर से पैसा जुटा कर बिना किसी experience के बहुत बड़ा बिजनेस शुरू करते हैं तो ये बहुत जोखिम भरा काम है और चाणक्य इसकी इजाज़त नहीं देंगे, लेकिन आप अपने पैसे बचा कर, अनभव लेकर कोई काम शुरू करते हैं तो निश्चित ही चाणक्य से इसकी अनुमति मिल जायेगी।
तीसरी और आखिरी बात – “स्त्री” यानि भोग विलास और अत्यधिक सुख सुविधा से दूरी क्यों बनाएं?
“स्त्री” को भोग-विलास की वस्तु से compare करना offending लगता है, पर यहाँ हमें चाणक्य के समय को ध्यान में रखना चाहिए, जब सचमुच स्त्रियों की स्थिति इतनी अच्छी नहीं थी और उन्हें इस तरह से भी देखा जाता था। खैर, अगर हम आज-कल की बात करें तो बहुत से लोग चादर से अधिक पैर फैला कर जीते हैं, वे एक luxurious life की चाह में अपनी कमाई से अधिक खर्च करने की आदत डाल लेते हैं। Credit Card से शौपिंग करना, EMI पे चीजें खरीदना उनकी ज़रूरत बन जाती है।
चाणक्य सलाह देते हैं कि हमें ज़रूरत भर की सुख-सुविधाओं में जीना चाहिए, बेकार का दिखावा and just to keep up with the Joneses* फ़ालतू के खर्चे नहीं करना चाहिए। Again, इस बात को समझना भी ज़रूरी है कि ये एक balanced approach होना चाहिए, ये नहीं कि आप ऐसा करने में कंजूसी की हदें पार कर दें। सुख-सुविधा की चीजें भी ज़रूरी हैं बस उनकी अति नहीं करनी चाहिए!
तो दोस्तों आपको चाणक्य के विचार कैसे लगे यदि आपको अच्छे लगे या बुरा लगे तो आप कमेंट में जरूर बताएं और अपने दोस्तों को facebook whatsapp twitter इत्यादि पर शेयर करें

 धन्यवाद दोस्तों ||

Regularly Blog ko Update karne ke fhyada ??


Regularly Blog ko Update karne ke fhyada ??

Bahut se new bloggers hmse hmesa puchte hai ki aakhir regular blog ko update karne se humko kya kya fhyada milta hai aur isse hmare blog ka Seo kaise badiya hota hai. Mai un sabhi bloggers se kahna cahta hu ki regular blog ko update karne se aapko bahut se fhyade milte hai aur aapko jitna fhyada regular blog ko update karne se milta hai utna fhyada sayad hi kisi aur chiz ko karne me milta hoga.
Aap apne blog ko kaise update karte hai Isse muje kuch nahi lena dena hai lekin agar aap ek naye bloggers hai aur aap apne blogging jurney ko abhi just start kiya hai aur aap blogging me apna career banana cahte hai to aapko
blogging me safal hone ke liye daily apne blog ko update karna padega.
Daily update karne ka mtlab aapko har ek din apne blog par ek artical publish karna padega. Agar aap aisa karte hai to aapke blogging me safal hone ka chance bahut jyada badh jayega. Iske sath sath agar aap daily apne blog ko update karte hai to iska fhyada aapko search engine ranking me bhi hoga aur aapki search engine ranking bhi bahut tezi se imporve hone hogi..
Ye post unke liye hai jo blogging ko ek business ke taur par dekhte hai aur blogging ko hi apna full time career banana cahte hai. Iss post me mai aapko rgular blog ko update karne se hone wale fhyade ke bare me batoga.
--Isliye dhyanpurwak iss post ko padhe. Faida No. 1: Search Engine Rankings Badiya Hoti Hai
Daily blog ko update karne se search engine ranking badiya hoti hai. Jaha tak mera manana hai yah sabse badiya chiz hai. Google
hmesa badiya content ko pasand karte hai lekin iske sath sath google daily update hone wale blog/website ko kuch jyada hi psand karta hai. Agar
aap 1 weak me ya phir ek mahine me blog ko update karoge to google aapke uss post ko jyada value nahi dega jisse uski search engine me ranking badiya nahi hogi,
lekin agar aap apne blog ko daily update karege to google aapke content ko kuch jyada hi value dega, jiski wajah se aapka content google me jaldi index hoga aur badiya ranking bhi payega.
Faida No. 2: Google Ranking Factor
Regular update aur fresh content Google Ranking Factor ka ek importent point hai. Agar aap blog ko daily update karte rahe to google aapke blog ko notice kar lega aur regular basic par google aapke blog ke content ko read karte rahega. Jisse aapke blog ki ranking google me badiya hoti jayegi aur aapke blog ke jyada se jyada page index hote rahege.
Faida No. 3: Blog ka SEO Badiya hota Hai
Jaha tak mera experience ka sawal hai to maine apne blogging Jurney me dekha hai ki regular update hone wale blog ka seo bahut badiya hota hai. aur unke har ek keyword ka rank google ke top 10 result me hota hai. Agar aap Fresh high quality content regular apne blog par publish karte rahe to mai yakin ke sath kah sakta hu ki aapke dwara target kiye gaye
keyword ka rank google ke top 10 result me jarur ayega. Isliye yadi aap apne competitors ko piche chodna cahte hai to regular basic par fresh aur high qulity content apne blog par publish karte rahe.
Faida No. 4: Logo Ke Sath Ek Solid Relationship Banta Hai
Jiss prakar google Regular fresh aur high quality content psand karta hai thik ussi parkar aapke blog ko read karne wale aapke visitor bhi aapse Regular basic par fresh aur high quality content update karne ki ummed karte hai. yadi Aap aisa karte hai to aapke visitore aapke reader ban jayege aur woh aapke blog par daily visit karege jisse aapke blog ka traffic badiya hone ke sath sath unke sath ek solid relationship bhi banega.
Mai aapko ek simple example ke dwara smjhata hu.
Yedhi aap Ek dukan Uspar Saman lene Jaate Hai aur aap dusre din Kisi Aur dukan Se Saman lete Hai to aap ka us ke saat kbhi bhi restha nahi ban sekta Hai.
Our ydhi aap roj ek hi dukan par jate ho to usse aap ka ek dosti ka resta ho jata Hai use parkar yedhi aap roj blog ko update karte Hai to Google aap ko top 10 m to dekayega hi par logo k saat hi dosti ka resta ho jayega.. Kyuki log apni  samasya ko bhi aap ke saath share karenge..
Faida No. 5: Post Indexing Rate Badh jata Hai
Regular blog update karne se blog post ki indexing rate badh jata hai. Maine dekha hai ki kuch bloggers ki hmesa yah problem rahta hai ki unka content jaldi google me index nahi hota hai. Iska main karan yah hai ki woh apne blog ko hmesa fresh content se update nahi karte hai.
Mai yaha par ek baat clear karna cahta hu ki daily blog ko update karne ka yah mtlab nhi ki aap kuch bhi aur kaisa bhi content daily update karte rahe. Daily upadet ka mtlab aapka content fresh hona cahiye aur aap jo content publish karne jaa rahe hai woh content
internet par kahi par bhi naa ho aur aapka content kahi se bhi copy kiya hua nhi hona cahiye. Agar iss tarah ke content aap daily publish karte hai tabhi aapko iska fhyada milega.
--Yadi aap daily blog update karte hai to aapko search engine se bahut hi badiya traffic milga. Iske sath sath aapke reader yah sochege ki yah blog awesome hai aur iss blog ke content fresh aur uniqe bhi hai Isliye yah sab chize unko aapke blog ko suscribe karne ke liye majbur
ho jayege aur woh aapke blog ke next post ko apne inbox me pane ke liye subcribe kar lege.
Yaha par mai ek baat ke bare me aapko batana cahta hu khash karke hindi bloggers ko. Maine notice kiya hai ki hindi bloggers email Subscribers par kuch jyada dhyaan nahi dete hai Mai unse kahna cahta hu ki agar aapko badiya paise blogging se banana hai to jitna ho sake
email Subscribers ko badhaye. jitna jyada aapke email Subscribers hoge utna hi badiya paise aapk blogging se banaoge Isliye isko ignor Kabhi bhi naa kare.
Aaap kisi bhi bade bloggers ko dekh le uske safalta ka ek karan uske email Subscribers bhi hai isliye aap apne email Subscribers seriouse tarike se dekhe aur usko jyada se jyada Badhane ki kosish kare.
--Visitor Regular Blog ko open karte hai Regular BLog ko update karne se ye faida bhi hai ki jo hamare visitor hai wo hamare blog ko regular open karke dekhte hai.. Agar ham regular update naa kare or bhale kitna bhi ache article dale koi hamare blog ko daily open nahi karega jab tak ham daily new post naa dale.
--Daily Post dalne par jo visitor hai uske dimag ne bhi ye baat beth jati hai ki roj kuch na kuch naya dalte hai blog me to aaj bhi open karke dekha jaye blog par aaj kya naya hai.
--Hamari likhne ki or Post ke liye new Idea ka flow bana rhata hai
Ham Regular Update karte rhate hai to hamara jo post likhne ka flow hai wo bana rhata hai or new post ke liye idea bhi jaldi jaldi miljate hai..
-- Regular Update karne se Blog par Contact Badta jayega
Ab sidhi si baat hai agar ham regular update karege to jo hamare blog par contact hai wo bhi badega jisse dhire dhire hamare blog ke visitor bhi badte jayege.
Simple sabdo me kahu to Regular Update karna Blog ko Matlab Blog ko Success ki taraf le jana Hai.
To Dosto regular blog ko update karne ke yah woh fhyade hai jiske bare me maine aapko bataya iske alawa bhi aur bhi bahut se fhyade hai regular blog ko update karne ka.
I hope aapne iss post m kuch naa kuch jarur sikha hoga.
--Yedhi aap ko ye post achi  lagi ho to Facebook Twitter WhatsApp etc. Par share kare.

Best of luck my dear friends.

Cricket Me Career Kaise Banaye Cricketer Bane ??


Cricket Me Career Kaise Banaye Cricketer Bane ??

Cricket aaj desh ke yuvaon ki pehli pasand ban gaya hai. Jab bhi cricket match hota hai to tv par usay dekhne ki bheed se aap andaza laga sakte hain. Ki cricket hamare desh mein itna lokpriya ho gaya hai ki yuva cricketer banne ka sapna dekhne lage hain. Lekin cricket mein career banana itna aasan nahin hai. Lekin namunkin bhi nahi Hai but aasan isleye nahi Hai ki keval kuch log hi cricket mein career bana pate hain. Cricket mein career banane ke liye kuch baton ka dhyan rakhna bahut zaroori hai.
- Aaiye jaane kya hain woh baatyen.
Cricketer Kaise Bane.--Sabse pehle apne ko parkhen
Cricket dekhna accha lagta hai iska matlab yeh nahin ki aap cricket accha khel bhi lenge. Cricket mein career banane ke liye aapke andar bahut zyada urja hona chaiye. Agar aap physically strong hain au 8 se 10 ghante bina thake field mein mehnat karne ki daud bhaag karne ki kshamta rakhte hain tab hi aap is field ko apna career banaye.
-- vehe apne Doston ke saath Cricket khelkar dekhen
--Ab jab aap apne ko physically fit pate hain aur itni mehnat kar sakte hain to aap is career ki aur ek kadam badha sakte hain. Agla kadam hai ki aap cricket mein kitne acche hain. Aap apne doston ke saath cricket khelen. Aap aur apke dost cricket mein bilkul anjaan hain aur kisi ne bhi training nahi li hai. Aise mein sab ek barabar hain aur keval match dekhkar hi seekhe hain. Ab yadi aap apne doston ke beech sabse accha pradarshan karte hain ya top 3 mein rehte hain to aap cricket ke career ki aur doosra kadam badha sakte hain par aap apne doston ke saath kam se kam 10 match khelkar yeh dekhen ki cricket mein aap kahan rehte hain.
--Cricket sikhna shuru karen
Ab yadi aap apne doston ke beech accha cricket khel lete hain to ab aap kisi acche coach se cricket sikhna shuru karen. Cricket ke khel ka sara saman bhi aap khareed len aur cricket mein pura dhyan den. Halanki is tarah apki padhai prabhavit hogi par apko aisa time table banana padega ki cricket ke saath apki padhai prabhavit nahin ho. Cricket ko ab aap gambhirta se len aur aapke parivar walon ko bhi isay gambhirta se lena chahiye. Jab aap cricket khel rahe hon to pariwar wale ye nahin sochen ki app khel rahen hain balki yeh sochen ki aap career bana raha hain tabhi aap cricket mein career bana payenge.
--Kuch pramukh cricket coaching center hain The Cricket club of India Mumbai, The Cricket Club of India New Delhi, Britannia Roger Binny Acadamey Banglore, MRF Pace Foundation Chennai, Ashok Malhotra Cricket Academy Kolkata, MAC Spin Foundation Hyderabad etc.
--or jab bhi koi Cricket ki  pratiyogita hoti  hai tab aap us mein bhag le.
-Ab aap apne school mein hone wali cricket pratiyogita, Inter school pratiyogita, inter city pratiyogiya aur yahan tak ki inter state pratiyogita mein bhag len. Pratiyogitaon ki jaankari aap ko apne coach se aur school se to milege hi saath hi aap usay internet se bhi prapt kar sakte hain. Har pratiyogita mein accha pradarsahn karen jisse ki aap par hi sabka dhyan rahe aur aap ka agli team mein aasani se chayan ho sake.
--Ranji trophy mein khelana apna lakshya raken
Rajyon mein cricket ke liye Ranjit trophy ko sabse badi aur mahtvapurna mana jaat hai. Yadi apke distric level ke matches mein accha pradarshan kiya hai to apko Ranjit trophy mein khelene ka avsar mil sakta hai. Isliye apne pradarshan ko har baar sabse accha dikhayen. Yadi aapko Ranjit trophy mein khelne ka avsar mil gaya to samajhiye ki aapke career se juda yeh ek bahut accha mod hai aur aapka Indian nationl cricket team ke liye chayan kiya jaa sakta hai kyonki Ranji trophy ke acche khiladiyon ko aagae khelne ka avsar prapt hota hai.
--Indian National Cricket Team mein khelne ka avsar
Ranji Trophy mein accha khelne se apko Indian National Cricket Team mein khelne ka avsar mil sakta hai. Aajkal Twenty Twent, ODI aur test matches hote hain. Agar aap ko national level par kisi bhi match mein khelne ka avsar milta hai aur aap usmay accha pradarshan karte hain to apka career cricket mein badhta hi jaayega.
                              
     Thank you .

Fashion Designing Mein Career Kaise Banaye ??


Fashion Designing Mein Career Kaise Banaye ??

Fashion Designing mein career banana ek bhaut accha vikalp hai. Aur Fashion designer bankar aap kafi paisa kama sakte hain. Fashion designer ka pramukh karya dresses mein naye naye design dena hai. Jisse ki log unhay kharidane ke liye prerit hon. Fashion designer jo kapde design karta hai woh vartman mein chal rahe fashion ke aadhar par hote hain. Aur woh vartman bazar mein logon ki pasand aur na pasand ke aadhar par hi kapde design karta hai. Isliye Fasion designing mein aane ke liye aapko bazar mein fashion ke bare mein pata hona chahiye. Aur kapdon, Kapdon ki silai, Kapdon ke rang aur design ka bhi gyan hona chahiye. To chaliye jane Fashion Designing Mein Career Kaise Banaye.

--Kaise karen shuruat
Sabse pehle aap apni ruchi dekhen ki kya vastav mein aap fashion design kar sakte hain. Kyonki yeh ek creative field hai. Isliye ismay sikhna to zaroori hai hi saath hi is karya mein ruchi hona bhi bahut zaroori hai. Agar aapke dimag mein kapdon ke design dekhkar tarah-tarah ke vichar aate hon. App kisi kagaz mein un design ko dekhkar usay kuch alag banane ki koshish karte hon. Apko naye fashion ki jaankari ho aur aap fasion designing se sambandhit kitaben padhne ka shauk rakhte hon. To samjh lijiye ki aap fashion designer banane ke liye hi bane hain. Aur aap

-- fashion designing ko apne career ke roop mein benane ke leye patience Rakhi. Kyunki aap ko mehanat ki Zaruri Hai. aap ek din m Manish Malhotra nahi ban Sakte Ishq ke liye bahut mehnat ki jarurat hoti hai. To Dosto koi bhi kaam karo patience ke sath karo.

--Kaun se course karen
Apko fashion designing mein career banane ke liye kisi acche aur manyta prapt sanstha se fasion designing mein degree ya certificate lena hoga. Iskay liye apko sabse pehle kam se kam 12 ki pariksha pass karni hogi. Yeh course aap full time ya part time mein kar sakte hain. Kuch pramukh Fashion design courses he. Jaise B.Design, BA (Hons) Fashion Design, Post Graduate Diploma in Fashion Design, BA (Hons) in Fashion and Life style Business Management. Fashion and Textile Design, Master of Business Administration in Fashion Technology, Master in Fashion Technology, Diploma in Fashion Technology etc.

Kahan Job mil sakta hai
Fashion designing ke career mein kafi zyada job hain aur acche fashion designers ki bahut demand hai. Yadi aap mein talent hai aur aap mehanti hain to aap is career mein unchaiyaon tak pahunch sakte hain.

--Or Ek fresher ke roop mein jab aap fashion designer ki job shuru karte hain to apko 15,000 se 20,000 rupay prati mahine ki job mil sakti hai. Tatha apke anubhav par apki salary badh jaati hai jo kuch varshon mein hi 50,000 rupay prati mahine tak pahunch sakti hai. Yai apka kam accha hai to doosri companies apko acchi job offer karne ke liye tayyar rahti hain.
Fashion Designer ko Job dene wali Companies

Woh Companies jo Fashion Designer ko job deti hain unmay se kuch ke naam is prakar hain. Arvind Mills, Bharti Welmart, Cairon, Design N Decore, Fabindia, GemPro. Indian Terrain, Just Linen Home Fashions, Karle International Pvt Ltd, Next Steps, Pal Fashions. Reliance Brands Ltd, Shree Bharat International, Tata International etc.

--Aage ye soche rehe hai ki Kya Scope hota hai Fashion Designers ke liye aage scope badhta hi jaata hai. Woh companies mein to acchi salary ke saath top position paate hi hain. Aur agar chaahen to khud ka fashion designing ka business bhi shuru kar sakte hain.
--Example me leye Anek Fashion deigners jaise Ritu Beri, Satya Paul, Tarun Thailani ne is shetra mein naam kamaya hai.
-- To ho jaye teyar fashion designing Mein Apna career banane ke liye
To Dosto aapko ye post kaisi lagi tedhi aap ko achi lagi ho to aap apne doston ko Facebook Twitter WhatsApp etc. Par Jarur share kare.
www.indiamotivation.in

YouTube se paisa kaise kamaye ?


YouTube se paisa kaise kamaye ?

-agar aapk paas acha video hai toh aap bilkul sahi jagah par aaye hai, Aap is article me yeh padh paayenge ki YouTube se earn kaise hota hai.
--YouTube se pese kemana sabse aasan job hai Jo aap bhi kar sakte ho ager aap karna chahte ho toh.
-Internet pe koi bhi kaam karne ke liye aapko passionate hona padega aur patience bhi rakhni padega, aap ek do din me nahi kar sa aapko karne aur samjhne me months lag sakte hai.
-YouTube ka minimum payout 100$ hai, Aapk suru me visits and subscribers laane me der hogi but agar aapka YouTube channel fayel jaane pe aap aasani se accha money kar sa ho yeh aapke visits, aapke keyword aur visit ke location pe depend karega.
-Ydhi aap ka videos USA me deka jata hai to aap ko jidha earning hogi.
-Setup Your YouTube channel :
Har YouTube account kisi channel se juda h hai. well aap YouTube channel banane ke liy gmail login kare aur Channal create Kare.
YouTube pe Content ko High Quality lenkin jayeda bada upload naa kare aur sath me aa kosis kare consistently upload kare.
Video Agar aapse accha nahi ban rha hai toh aap pahle practice kare 1-2 week accha banay aur tab hi broadcast kare.
-Aap Powerpoint presentation, Tips & tricks, News, Tutorials bana ke daal sakte hai.
--Content (Videos) ka sahi Title & Description add kare, yeh aapke searches se traffic aayn
--Aap Video ko Edit karne ke liye Video Editin Softwares use kare maine ne kuch use kiye usme mujhe Adobe Primer accha laga lenkin aap simple edit ke liye Movie maker & iMovi use kar sakte hai.
--Jaisa ki Aap jaante hai ki bina views ke aapk ek $ bhi nahi milega sara kaam aapke audien ke liye ho rha hai, Jitna jayeda audience aap channel ko dekhnge aur subscribe karenge utna aapko fayeda hoga.
Audience increase karne ka koi Secret tricks nahi hai bus aapko acche videos daalne hai jo user ko pasnad Aye.
Aap Facebook, Twitter and LinkedIn jaise sit pe apne niche ke relevant community ko join kare aur waha apne channel ko promote kar
Aap apne viewers ke answer comments and mail se dete rhe.
Setup Google AdSense :
Google AdSense ke liye aapko 18+ hona padega agr aap nahi ho toh aap kisi aur ki h se kare. aap bank account ya PayPal kisi me bhi paisa le sakte hai. aapko har click ke pai milege.
--Click on Ads = Money !
Well, Upar ke diye gye Tips bahut acche hai agar aap sirf padh ke naa chhode toh agar a follow karenge toh aap zaroor earn kar sakt hai, lenkin fir bhi kuch others tips jo aapke channel ke successful hone ke liye zaroori h
--Title ko hamesha kosis kare ki aapke post se relevant bhi ho aur log ko attract karne wala bhi ho. kyuki sabse jayeda log title dekh ke hi aapke videos ko dekehnge.
-- Koi bhi kaam karne me aapko agar passion rahega toh aapke successful hone jayeda chances hai. isi tara aap YouTubing me bhi aapko passionate hon padega.
User Name/Logo/Thumbnail : Aapke username,Logo ko memorable hona padega aur aapke thumbnail ko bhi catchy hona padega tab jaa kar aapka sahi maanye me lo ke bich ek brand banega !
Our aap apna Logo banane ke liye aap Simole Photoshop illustrator ka use kar sakte hai agar aap kisi hire karna chahe toh Odesk and Freelancer p hire kar sakte hai.
--Aisa ho sakta hai ki aap yeh post padhe lenk aap YouTube suru hi naa kare jayedatar log aisa hi karte hai, try karne se pahle hi haar maan jaate hai. Are yaar pahle start toh kar aap kar sakte ho, koi bhi kar sakta h.
Motivation story--
Ek 17 year ka ladka old Fred Pye usne 18 Lakh earn kiya 1 year me.. usne kya kiya aap yeh soch rhe hai ? actually usne GTA game ka wthroughs banaya.
--Aap khud socho ki aap kyu nahi kar sakte ? Uske paas v internet h aapke paas bhi intern hai, aap bhi upload kar sakte ho aap bhi uplo kar sakte ho.
Yedhi aap female ho toh aap YouTube par cooking sikha sakte ho, teaching kar sekte ho.
--Agar aapko 1 Lakh per month earn karne ha YouTube se toh aap kar sakte ho iske liye aapko 10 Lakh views chahiye per month.
Ji haan English countries ke viewer se aapko jayeda income hoga, aap kosis kare USA targeted visitors ke liye videos daale..
Or dosto koi problem ho to comment box main comment kar ke batao.
To Dosto aapko ye article accha laga ho to Facebook WhatsApp Twitter etc par Jarur share kare.

Best of luck my dear friends.

asflata ko sflata me kaise badle असफलता को सफलता में कैसे बदलें ??


असफलता को सफलता में कैसे बदलें ??

-- Ways to Success in Life
सफलता और असफलता में सिर्फ इस बात का फर्क हैं की असफलता से होने वाली निराशा से भरी स्थितियां और हतोत्साहित करने वाली बातों के प्रति हमारा रवैया क्या होता हैं | यानि हम असफलता के साथ कैसा behave करते हैं |
–असफलता को सफलता में बदलने वाले इन सिद्धांत पर ध्यान दें
--असफलता का अध्यन करें , ताकि आप सफलता की राह में आगे बढ़ सके | जब हम असफल हो जाएं, तो हमें उस असफलता से सबक सीखना चाहिए और फिर अगली बार जितने की तैयारी करनी चाहिए |
लोगों की जीवनियां पढ़ें और आप पाएंगे की जो लोग बहुत सफल हुए हैं, उन्हें कई बार असफलता झेलनी पड़ी है | सफल लोगों के इस अभिजात्य समूह ने विरोध सहन किया, लोगों के ताने सहे, राह में बधाए और तकलीफें झेली, असफलताओ का दौर झेला व्यक्तिगत दुर्भाग्य सहा | और आप यहाँ भी पाएंगे की ये सभी लोग किसी न किसी मोड़ पर अपनी असफलताओ के सामने घुटने टेक सकते थे |
अपने खुद का रचनात्मक आलोचक बनने का साहस रखें | अपनी गलतियां और कमजोरिया खोंजे और फिर उन्हें सुधारें | इससे आप प्रोफेशनल बन जायेंगे |
खुद को बताए, ‘कोई तरीका है |’ विचारो में चुंबकीय शक्ति होती है | जैसे ही आप खुद को बताते हैं, ‘मैं हार गया हूँ | में इस समस्या से नहीं जीत सकता, ‘आप नकारात्मक विचारों को आकर्षित करते हैं, और इनमें से प्रत्येक विचार आपको यह विश्वास दिलाता है की आप सही हैं, की आप वास्तव में हार चुके हैं |
इसके बजाय यह विश्वास करें, ‘इस समस्या को सुलझाने का कोई तो रास्ता होगा |’ और तत्काल आपके सकारात्मक विचार आने लगेंगे, जिससे आपको समस्या सुलझाने में मदद मिलेगी |
--‘कोई न कोई तरीका तो हैं” यह सोचना, यह विश्वास करना सचमुच महत्वपूर्ण है |
सफलता
--किस्मत को दोष देना बंद कर दें | इसके बजाये आपको हर असफलता का विश्लेषण करना चाहिए | यह पता लगाए की गलती कहाँ हुई थी | याद रखें, तक़दीर को दोष देने से कोई व्यक्ति वहां नहीं पहुंचा, जहाँ वह पहुंचना चाहता था |
--हमें अपनी गलतिया सिर्फ इसलिए नहीं ढूंढनी है, ताकि हम खुद के सामने यह बहाना बना सकें, “यह एक और कारन है जिससे में असफल होता हूँ | ”
--इसके बदले हमें अपनी गलतियों को इस तरह से देखना चाहिए, “यह एक और तरीका है जिससे में जीत सकता हूँ |”
--अधिकतर हम अपनी असफलता के लिए किस्मत को दोष देते हैं काश ये होता काश वो होता काश नहीं होता यह सब बहाने हैं सच तो यह है यदि आप पूर्ण लगन सद्भावना के साथ कार्य करोगे तो सफलता आपके कदमों में होगी|
-लगनशीलता के साथ प्रयोगशीलता का समन्वय कर लें | अपने को बनाए रखें, लेकिन पत्थर की दिवार से अपना सर न टकराते रहे | नई शैलियों का प्रयोग करें | प्रयोगशील बनें | कोई भी समस्या या मुश्किल तभी तक पहाड़ जैसी लगेगी, जब आप इसे पहाड़ जैसा समझेंगे | अगर आप मानते हैं की यह नहीं सुलझ सकती, तो यह सचमुच नहीं सुलझेगी | यह विश्वास रखें की यह सुलझ सकती है और इसके बाद आपके मन में इसके समाधान अपने आप आने लगेंगे यह असंभव है, ऐसा कभी न तो सोचे, न ही कहें |
--बड़ी परिस्थितियों में भी अच्छे पहलू को देखना लाभदायक होता है |
--एक बार एक आदमी था जो ट्रांसपोर्ट कंपनी में काम करता था और उसको तनख्वाह भी अच्छी मिलती थी एक समय ऐसा आया कि ट्रांसपोर्ट कंपनी में मंदी आ गई तो उसको और उसके साथियों को निकाल दिया गया|
तो वह बहुत उदास हो गया फिर उसने सोचा नकारात्मक विचारों के साथ तो नहीं जिया जा सकता तो उसने एक छोटी सी दुकान खोली और धीरे धीर वह अच्छी चलने लगी और एक दिन ऐसा आया वह व्यक्ति को शहर का सबसे बड़ा व्यक्ति बन गया |
तो यह उसकी पॉजिटिव थिंकिंग का ही कमाल था नहीं तो वह जॉब के चक्कर में पूरी जिंदगी गरीबी में ही बिता देता और ना ही शहर का बड़ा आदमी बन पाता तो सोच अच्छी रखो तो आप कुछ भी कर सकते हो यदि आपकी सोच अच्छी है तो आप कितने भी असफल हो तो अपनी असफलता को आसानी से सफलता में बदल सकते हो इसके लिए आपको कड़ी मेहनत की जरूरत होती है |
--हमें यह बात याद रखनी चाहिए, की हम किसी भी परिस्थिति में वही देखते हैं, जो हम देखना चाहते हैं | अच्छे पहलू को देखें और हार को जीत में बदल लें | अगर आप स्पष्ट दृष्टि विकसित कर लेते हैं, तो सारी चींजे आपके लिए अच्छा काम करने लगेंगी |
परिस्थितियों के आदर्श होने का इंतजार न करें| वे कभी आदर्श नहीं होंगी | भविष्य की बाधाओं और कठिनाइयों की उम्मीद करे और जब वे आए, तब आप आप उन्हें सुलझाने का तरीका खोंजे |
याद रखें केवल विचारों से सफलता नहीं मिलती | विचारों का मूल्य तभी है जब आप उन पर अमल करें |
तो आप अपनी सोच अच्छी रखो वह ऊंचे सपने देखो सपने वह नहीं होते जो सोते हुए आते हैं सपने तो वह होते हैं जो सोने नहीं देते आप अपने सपनों को पूरा करने के लिए जोश जुनून रखें और मेहनत करे तो सफलता आप के कदमों में होगी||

धन्यवाद मित्रों||

Share Bajar m Paise Invest Kaise Kare


Share Bajar m Paise Invest Kaise Kare

–Share Bajar m Paise Invest Kaise Kare -Aaj kal har koi apne paise invest karne ke liye aisi jagah chahta hai jahan use uske fayde najar aaye. Share bajar main nivesh investment in shares yadi apko share baajar ke bare main kam jankari hai ya aap is bajar ke new khiladi hain ya aap chahte toh hain ki bajar main nivesh kare magar jante nahi ki kya kare kaise kare toh aaj hum apko kuch tips dete hain.
Paise Invest Kaise Kare
--Kuch aur share bajar main nivesh- investment in shares ke tips yaha hain. Share bajar main har koi paisa kamana chahta hai magar kai baar dosto, rishtedaro aur sath kaam karne walo ki dekha dekhi nivesh karke log fas jate hain. Jab bhi share bajar main nivesh kare toh apni samajh ke sath kare aur janle ki usmai kitna jokhim ho sakta hai.
---To aap jab bhi investment kare to apni jokhim ko dhyan m rek kar hi kare
--Aap bhi kahege ki kya ghalmel hai. Sath hi keh rahe hain ki main apko tips deta hoon aur sath hi keh rahe hain ki tips se door rahe. Vastav main apko kin company ke shares main nivesh kare aise tips nahi dene wala. Yaha main apko yeh bata raha hoon ki kaise share bajar main nivesh kare. Toh sabse pehli baat mitro, rishtedaro aur bokro ke bataye tips par ya bajar main feli afwaho ke adhar par nivesh na kare. Yeh bahut hi khatarnak ho sakta hai.
--Balance sheet aur company ke results ko padhna aur samajhna sikhe. Yadi apki shiksha commerce streem se nahi hai toh thoda aur savdhan rahe. Bajar ke bare main adheek se adheek jaankari ikattha kare.
--Regular roop se economic times jaise newspaper padhe aur CNBC awaz jaise channel dekhe. Iske alwa internet par nivesh related jankariya ikathi kare. Jab apko bajar ke bare main aatmavishwash jagne lage toh bhi nivesh karne se pehle 2-3 company ko choose karle jaha apko lage ki nivesh karna sahi rahega. Uske baad un company ke bhavo par regular najar rakhe. Kam se kam ek month apni is company par najar rakhe. Yadi lage ki apka chunav sahi tha aap bajar main jaane ke bare main soch sakte hai.
--Starting kam paise se kare
Shuruaat main naam matra ka nivesh kare aur anubhav prapt kare. Ekdam se jayda paise daav par na lagaye.
-- Waise bhi bajar main ek sath bada nivesh karne se bachna chaiye aur apne paise ka ek ek part regular roop se nivesh karna chaiye.
-- related Baaton Ka Dhyan Rakho our jis Company may investment  karna chahti ho  use sambandhit News and balance sheet market value etc. ko Dyanne m Rakh kar hi Nivesh Kare.
Dosto Ye post Achi Lagi toh Facebook WhatsApp Twitter etc par share kare.

Best of luck my dear friends.

Friday, 27 May 2016

Blogger Post ke liye Categories kaise add kare


Blogger Post ke liye Categories kaise add kare

Es post m hum  apko batyega ki kaise blog me new post ke liye  categories ko use karte hai.
-Post ko categorise kyun karte hai.
Jo log apke blog blog pe organic search se atye hai unke liye categories nahi bhi hai to chalega.
-- lekin jo apke blog ko apka URL open karke atye hai unke liye category banan jaruri hai. Nahi toh wo apke blog dubara nahi ayenge. Visitors ko chahye ki unhe har chiz asani se mil jaye. Agar unhe koi bhi post dhundne me problem hoga toh wo dubara apke blog pe kabhi nahi ayenge. Iske liye apko apne blog ko ache se navigate karna jaruri hai. Label or categories me post rakh kar aap apne blog ko ache se navigate kar sakte hai.
Konsa Tool blogger me categories banane ke kam ata hai:
--to Hum Uske baare mein Jante Hain To Chalye dekte Hai. Ki  blogger Main Kaise category banata hai?
--Sirf ek hi tool hai jo blogger me categories banane me help karta hai or wo hai LABLE. Label ek tag jiska use karke aap post ko alag alag category me rakh sakte hai.
Ek post ko aap bahut sare label me rakh sakte hai. or Ek blog me aap 5000 tak ke label ya categories bana sakte hai.
--Aap label gadget ko apne blog me kahi bhi or jitna bar chahe use kar sakte hai. Mai apko Step by step batata hu kaise blogger me post ke liye Label gadget use karte hai.
1. Blogger.com pe jaye
2. or Ab apna blog choose kare
3. Phir dashboard>>layout pe click kare
4. Ab “Add a widget” ka link hoga uspe click kare.
5. Ab apko “Label’ ka option dikhaye dega. Label ke samne blue color ka plus sign hoga uspe click kare
6. Ab save pe click kare. apke template me Label add ho chuka hai.
Mene apko bataya ki kaise Blogger post m categories create karte hai To doston Ye post Kisi Lagi Achi Lagti Ho to jarur share kare.
Best of luck my dear friends

Thursday, 26 May 2016

Motivational Speech in Hindi प्रेरणादायक मोटिवेशन स्पीच ?


प्रेरणादायक मोटिवेशन स्पीच
 Motivational Speech in Hindi.
मन के हारे हार है!  मन के जीते जीत है! यह कहावत काफी समय से चली आ रही है!
--इसका अर्थ ये है! की हर एक मनुष्य की सफलता उसके अंदर के काम करने की  समता में छुपी होती है! और इसकी जड़ व्यक्ति के मन में होती है!
-इसीलिए कहते हैं की यदि कोई व्यक्ति मन में यह ठान लेता है की मुझे सफलता प्राप्त करनी ही है तो उसे सफल होने से कोई नहीं रोक सकता|

-यदि हम अपने लाइफ में सफल होने की कामना करते है! तो सबसे पहले हमको अपने दिमाक को उसके लिए तैयार करना होगा!

--लाइफ में सफल होने का सबसे बड़ा कारण ये होता है! आप सफलता के बारे में क्या सोचते है! यदि कोई भी आदमी अपने आपको बिना कुछ किये हुए पहले ही अपने आपको असफल मान ले तो वह पुरी लाइफ में कभी भी सफल नहीं हो पाएगा! क्योकि वह सफल होने के लिए नहीं सोचता है! बल्कि सफलता से ज्यादा असफलता के बारे में सोचता है!

--इसलिए लाइफ सफल होने के लिए अपने सबसे पहले अपने सोच को सफल करने की जरुरत है! सफलता हासिल करने के रास्ते में सबसे बड़ी चुनौती नकरात्मक बिचारो और कार्यो से छुटकारा पाना, सकरात्मक सोच बिकसित करना और इसके साथ साथ बीच में असफलताओं के बाद भी उठ खड़े होकर आगे बढ़ना की भावना रखना जरुरी है! सफलता पाने के लिए हमको अपने मन को समझ कर असफलताओं और आलोचनाओं को डट कर सामना करना चाहिए!

-- अपने आप पर हमेशा नियंत्रण रखे! क्योकि लाइफ में सफल होने का कोई शॉर्टकट तरीका नहीं होता है!

--अगर आप अपने पैशन को अपना प्रोफेशनल बना ले तो सफलता मिलना का चांस बहुत ज्यादा बढ जाता है! हर एक आदमी के अंदर कुछ ना कुछ स्पेशल चीज़ होती है! लेकिन हम उस स्पेशल चीज़ को जान नहीं पते है! जिस दिन भी हमको अपने अंदर के उस स्पेशल चीज़ के बारे में पता चल जायेगा उस दिन हमको सफल होने से कोई भी नहीं रोक पाएगा! इसलिए अपने अंदर के छुपे हुए टैलेंट को जाने! और हमेशा सोचे की हमारे अंदर ऐसा कौन स्पेशल टैलेंट है! जो किसी दूसरे के अंदर नहीं है!

--हमको अपने आप से सवाल करना चाहिए! की वह कौन सी चीज़ है! जो हमको अपने मंजिल तक ले कर जा सकता है! लाइफ में सफल होने का ये मतलब नहीं होता है! हमको कोई उच्च पोस्ट मिले और हम लाइफ में बहुत सारा पैसा कमाए! बल्कि सफलता का ये मतलब होता है! हम वह काम करे जिसको करने से हमारे मन को शांति मिले! और जिसको करने में हमको ख़ुशी मिले!
किसी भी चीज़ की शुरुवात करने से पहले आपको अपने अंदर उस काम के करने का विश्वाश पैदा करना चाहिए! जब तक आपके मन में उस चीज़ के करने का विश्वाश नहीं पैदा होता तब तक आपको उस चीज़ में सफलता नहीं मिलेगी! किसी भी काम में आने वाली समस्याओं का सामना करने के लिए हमेशा तैयार रहना चाहिए! कभी भी अपने आपको किसी से भी काम ना समझे क्योकि बहुत से चीज़ ऐसे है! जो आपसे बेहतर कोई दूसर नहीं कर सकता है!

--हर एक आदमी के अंदर कुछ अच्छी तो कुछ बुरी चीज़ होती है! हमको उनके अच्छी और बुरे चीज़ो से कुछ ना कुछ सिखने की कोशिश करते रहना चाहिए! किसी भी चीज़ को करने का आपको आत्मविस्वास होना चाहिए! 

--क्योकि बहुत से हमारे महान साइंटिस्ट का ये मनना है! की अगर आपके अंदर किसी काम के करना का आत्मविस्वाह नहीं होगा तो उस काम में आपको असफल होने के चांस बहुत ज्यादा बढ जायेगा! क्योकि आत्मविस्वास ना होने पर आपके अंदर असफल होने का एक डर हमेशा बना रहेगा जिसकी वजह से आप वह काम अच्छी तरह से नहीं कर पाएंगे! इसलिए किसी भी काम को करने से पहले आपको उस काम के करने का पूरा आत्मविश्वाश होना चाहिए! जब आपके अंदर किसी काम के करने का आत्मविस्वाह होगा तब उस स्तिथि में आप उस काम में अपना 100% देंगे!

--लाइफ में सफल वही होता है! जो अपनी गलतियों से कुछ ना कुछ सिख कर कभी भी हार नहीं मानते है!

-- हमेशा अपने लछ्य पर हमेशा टिके रहता है! कभी भी आपको सफलता तुरंत नहीं मिल पायेगी! हमेशा सफलता में कुछ ना कुछ समस्याएं जरुर आएगी! लेकिन आपको उस समस्याओं से घबराकर भागने की जरुरत नहीं है! बल्कि टिक कर उसका समाना करने की जरुरत है! पहले की अपेछा आज कम्पटीशन बहुत ज्यादा बढ गया है! और आज के टाइम में आपको सफल होने के लिए तन और मन से कोशिश करने की जरुरत है! अगर आपका मन किसी भी तरह के लछ्य को पाने के लिए तैयार है! तो आपको सफल होने के लिए कोई नहीं रोक पाएगा! इसलिए अपनी मानसिक स्तिथि मजबूत करे! कभी भी किसी भी चीज़ में हार ना मने जिस चीज़ को भी करने का मन बना ले जब तक उस चीज़ को कर ना ले हार ना मने! 
.
तो दोस्तों अपना लक्ष्य तय करें और उससे प्राप्त करने की पूरी कोशिश करें यदि आपको असफलता भी मिले तो फिर से ट्राई करें आपको जरुर सफलता मिलेगी तो आप अपना लक्ष्य प्राप्त करेंगे |
यदि आपको ये मोटिवेशन स्पीच अच्छा लगा हो तो इसको अपने दोस्तों के साथ सोशल मीडिया पर शेयर करे.

Motivational Speech in Hindi

धन्यवाद दोस्तों !

Wednesday, 25 May 2016

Sapne Kaise Sakar Kare Kamyab Bane


Sapne Kaise Sakar Kare Kamyab Bane
Amir banne ke, har kshetra me safal hone ke ya fir kuch aisa kar jaane ka sapna jisse duniya hamesha hame yaad kare, hum sab aisa koi na koi sapna jarur dekhte hai. To chaliye jaane Sapne Kaise Sakar Kare Kamyab Bane.
--Sapne Kaise Sakar Kare – Main un sapno ki baat nahi kar rahi hu jo aap sote huye dekhte hai balki un sapno ki baat kar rahi hu jo aapko sone nahi deti. To aakhir aisa kya hai jo aapko aapke sapno ko sakar karne se rok deta hai. Aise kya vajah hai jo aapko aage nahi badhne deti hai? Aur inse aap kaise nijat paa sakte hai inhi baton par is lekh me hum charcha karenge. To chale jane Sapne Kaise Sakar Kare.
--Jis Ke Zindagi Mein Koi Sapne nahi hote hai uski Koi Zindagi nahi hoti hai es leye Khuli Aankhon Se Sapne dekho our un ko Sakar karo.
--Aksar hum apni kamjoriyon ko chupane ke liye ya dusaron ko dikhane ke liye ya fir apne man ko behlaane ke liye kuch na kuch bahane banate hai. Yehi bahane hame apni manjil tak pahuchane se rokte rehte hai. Aaiye aise hi bahano ke bare me jaante hai aur ye bhi jaante hai ki inse kaise nipta jaaye aur apni jindagi me kaise badlav laaye jaaye.
-Yeh bahoot kathin athva asambhav sa pratit hota hai
-- par Kya aap aksar is vakya ka paryog apne sapne ko bayan karte vakt karte hai? Agar haan to yeh jaan lijiye ki jitni baar aap is baat ko dohraayenge aapke liye aapke sapne ko paana vastav me utna hi asambhav athva kathin hota jaayega.
--Khud kismati se iska ulta bhi hota hai. Koi kaam ya lakshya kitna hi kathin kyun na ho agar aap apne man ko ye samjhate rahe ki ye aasan hai aur aap ise kar sakte hai to dheere dheere vahin kathin karya ya lakshy aapke liye asaan hota jaayega aur aap apne lakshya ko aasani se pane ke liye taiyar ho jayenge.Main itna yogya/dhani/smart nahi hu
--Jab aap ye dohrate hai ki aapka lakshya ya sapna itna aasan nahi hai tab aap apne sapne ko dosh dete hai. Lekin jab aap ye kehte hai ki aap itne saksham/ dhani/smart nahi hai to aap apne aapko dosh dene lagte hai.
--Aisa foran band kare
Sapne Kaise Sakar Kare – Aapne aapko yogya, dhani athva smart na hone par svayam ko dosh dena band kare. Jin cheejon par aapka koi bhi niyantran nahi hai uske liye apne aapko dosh dena band kare. Aur dhairya nischay karke apne aap se dohrayen ki paristhitiya kitni bhi viprit kyun na ho aap har kaam ko karne me saksham hai aur aap apne lakshya haansil karke hi rahenge. Aap apna sapna sakar karke rahenge. To aap Soch achi rekhe to aap kuch bhi kar sakte hai.
To always better thinking ihi Best hai.
--Mere pass samay nahi hai/paisa nahi/ya fir prathibha nahi hai.
Aksar hum usi cheej ke bare megour karte rehte hai jo hamare pass nahi hota hai jaise paisa, samay ya fir talent . Udharan ke tour par agar aapko lagta hai ki aapke pass apne kaam ko karne ke liye yogyata nahi hai ya fir koi skill nahi hai. To aise tareekon ko khojen ya fir kahin se traning le jisse aapki mushkil aasan ho jaayen.
-- or Confidence Kaise Badhaye.

www.indiamotivation.in

Aur un cheejon par dhyan dena band kare jo aapke pass nahi hai balki un cheejon par dhayan de jo aapke pass hai. Aapke pass hamesha nayi shurvaat karne ke mouke honge. Isliye nayi shurvaat karne ke liye sabse pehle ye jaane ki apne kaam ko behter dhang se karne ke liye aapko kin cheejon ki jarurat hai aur fir use hansil karne me jud jaayen.
--Janiye Dar Ko Dur Kaise Bhagaye Himmatvaan Bane.
Main ise kisi aur din kar lunga
Chote chote ya bade kaamon ko kal par nahi chode kyunki kal kya hoga ise koi nahi jaanta aur fir agar aap kisi kaam ko aap aaj nahi karna chahte to kya garranty hai ki aap kal use karenge hi.
Main pehle abhi asafal ho chukka hu
Pehle aapke saath kya hua use aap ab to badal nahi sakte. Lekin aapka aane vaala vaala kal beete huye kal jaisa nahi ho uske liye aap bahoot kuch kar sakte hai.
-To dosto apne Sapno ko sakar kar lo our apni Zindagi je lo.
Aapko ye post kaise laga niche comment me jarur likhiye. Or apne dosto ko share karo.
  Best of luck my dear friends

Smart Kaise Bane --Intelligence Badhaye


Smart Kaise Bane --Intelligence Badhaye
Smart Kaise Bane – Kaun nahi chahta aakarshan ka kendra banana. Kaun nahi chahta ki koi use baar baar puche ki aapki khubsurti ka raaj kya hai? Kaun nahi chahta dusron se behter banana? Yeh sab hamari chahat hai. Har koi dusro se behtar hona chahta hai behtar dikhna chahte hai. Smartness aatmavishvas badhane ka aadhar maana jata hai. Yeh sach hai ki jo dikhne me smart hota hai ya smart bana rehta hai vah bade se bada aur vikhyat logon ke saath bhi bejhijhak baat karta hai. Yadi aap bhi chahte hai ki aapme aisa advitiya aatmvishvas ho to jaruri hai ki apne vyaktitva me sudhar kare.
Smart Kaise Bane
Yahan saval uthta hai kaise? Vyaktitva me sudhar ka arth hai ki khud ko puri tarah badal dale. Na sirf baton me smart bane balki aapki sharirik khubsurti bhi dusron ko chonka dene vaali honi chahiye. Hum yaha Definition Of Intelligence, Artificial Intelligence, Intelligent Systems, Intelligence Tools, Intelligence Software, Intelligence Quotes, Intelligence Game aise koi badi badi bate nahi batane wale bas kuch aasan tarike batane wale he. Janiye Bachchon Ko Badhava Kaise De Hindi Me Tips .
Svasth visheshyagya kehte hai ki smart dikhne ke liye niyamit exercise karte rehna chahiye. Halanki exercise bahoot jaruri hai. Lekin yeh na bhule ki sirf exercise aapke sharir ko sharirik ko aakarshak nahi banati hai. Apke chehre ko aakarshak banane ke liye aapko apni jeevanshelly me kuch badlav karne anivarya hai. Jyada pareshan na ho. Niche diye ja rahe kuch tips aajmayen aur khud ko nikhare. Chaliye jane Smart Kaise Bane.
Aap sochoge ki nahana he. Vo to hum roj karte hai magar jara rukiye. Sirf nahana jaruri nahi hai balki sahi dhang se nahana jaruri hai. Niyamit rup se kam se kam 10 minute tak shower ke niche khade rahe. Magar dhyan rakhe ki paani thanda nahi gunguna hona chahiye. Aksar dekha jaata hai ki log gungune paani ki bajaye garm pani ka istemaal karte hai. Lekin aap aisa na kare. Isse tavcha rukhi ho jati hai.
Hafte me ek ya do baar vishesh scrub se chehre ko scrub kare. Aisa nahane ke dauran bhi kiya ja sakta hai. Bheege kapde se bhi yeh kiya ja sakta hai chehre par hoshiyari se scrub kare.
Behter svasthya ke liye paryapt paani pina jaruri hai. Yahin faura hamari tavcha ko khubsurat banane main bhi lagu hota hai. Sharir main paani ki bharpur maujudgi se chehra damakata hua najar ayega.
Visheshkar exercise ke duaran paani pite rehna chaiye. Sabko har roj kam se kam 2 liter paani pina chaiye.
Hamari aaj ki jeewansheli main hum sab kuch karte hain par sona bhul jate hain. Raat ko ghanto baithkar kaam karte hain aur morning hamara utna hi thaka hua mehsoos hota hai. Aise main bhala chehra damakta hua kaise pratit ho sakta hai. Behtar hai apni neend ke time main katoti na kare. Raat ka time aisa time hota hai jab hamari skin apne aap renew hoti hai. Jab hum paryapt nhi sote hain toh hamari ankho ke niche kale ghere badh jate hai jiske chalet hamari khubsurati main daag lag jata. Yadi aap niyamit aur paryapt neend longe toh aise ghere nahi hoge. Har din 7 se 8 ghante ki neend jarur le.
Please doston Ye post aap ko achi Lage toh Jarur share karna

Padhai Kaise Kare top Banane Ke Tarike


Padhai Kaise Kare top Banane Ke Tarike
-----Padhai kaise kare Top aane ke liye :
Sabse pehle padhai main man na lagne ke karan ka pata lagana chaiye ki aakhir padhai main man kyu nahi lag raha hai ?
Mere hisaab se kuch normal karan ye ho sakte hain –
-Padhai ka normal mahol na hona.
-Padhne ka sahi time na hona.
-Padhne ke liye sahi samaan ka na hona.
-Sahi margadarshan ka na hona.
-Other work mai busy.
-Concentration ka kam hona.
-Confidence ka na hona.
Mere khayal se upar likhe gaye karan se log nahi padh pate hai, inke alawa bhi anya dusre karan ho sakte hain, jo alag alag logo ke alag ho sakte hai.
Aaj inhi sadharan karan par baat karte hai. Ye sare karan mai jo mahatvapurna karan wo hai sahi margadarshan ka na hona.
Sahi margadarshan ka competitor ki exam mai sabse mahatvapurn karan jagah hai. Padhiye
----apne baccho ko sahi margadarshan kaise kare .
Jaise apko agar Jaipur jana hai, aur apko sahi rasta maalum nahi hai, agar apko sahi margadarshan nahi mili toh ho sakta hai, ki aap kisi tarah se Jaipur pahuach bhi jaye but isme apka bhut jayda time aur paise bhi waste ho sakte hai.
Magar sahi margadarshan milne par aap time ke sath paise bhi bacha sakte hai and apne lakshya par bhi time par pahunch sakte hain.
Sahi dhang se tayari shuru karne ke liye ek sahi margadarshan bahut important hai.
Kai baar hum hard work aur bahut koshish toh karte hai but success nahi hote.
Dusri taraf kuch log hard work less karte hain fir bhi wo success ho jate hai.
Iska karan unka sahi way mai mahatvapurn prayaas hota hai.
Jaise – agar hum keel ko ulta pakadkar kitna bhi jor se dewar main thoke wo nahi thok sakti hai. Agar use sidha kar dene par wo thodi koshish karne par hi aram se thuk jayegi. Isi trah competitor ka sahi way mai sahi sahi koshish karna bahut jaruri hai. Padhiye Smart aur intelligent kaise bane .
Sabse pehle toh padhne ke liye ek lakshya (target) hona jaruri hai, yeh hamare liye ek prerna(motive) ka kaam karta hai.
Agar lakshya (target) nirashrit (Destitute) hai, toh hamari success Doubtful hogi.
Ek lakshya (target) hona bhut important hai. Ek se jayda lakshya (target) hone par man bhatakta hai aur padhai mai man nahi lagta hai.
Ab lakshya (target) fix karne ke baad sahi preparation jaruri hai, means hume apne lakshya (target) ke bare main poori
jankari(information) jutaani hogi, ki exam kaise hogi?
Syllabus kya hai ?
Pattern kis tarah ka hai ?
Question kis tarah ke aate hai?
Lesson summery kaha se milegi, kaise milegi ?
Tayari ki Strategy kya hogi ?
Success ke liye kitni mehnat jaruri hai ?
Success logo ki kya planning rahi thi ? etc.
Agar hum in questions ke answer dhund lete hain toh humari problems ka aadha(half) solution ho jayega. Ab half solution ke liye hume apne schedule ko set karna hoga. Matlab self management, agar hum khud ko sahi tarike se comptetion ke hisaab se nahi change kar pate toh success mai doubt hoga.
Hume apni padhai ka time aur hours apni kshamata(capacity) ke anusaar fix karne hoge. Fix time period ke sath anusaran(follow) karna hoga. Iske liye hum ideals insaan, ideals articles, ideal books etc ki help le sakte hain.
Padhiye Class me hoshiyar kaise bane.---Study humesha chair table par baithkar kare, -bed par letkar bilkul bhi na padhe. -Letkar padhne se padha hua kabhi dimag main hi jata, ulta neend aane lag jati hai.
-Padhte time television na chlaye aur radio and song bhi band rakhe.
-Padhai ke waqt mobile switch off karde ya phir silent mode mai rakhe,
“mobile padhai ka dushman(enemy) hai”.
-Padhe hue lesson ko likhte bhi jaye isse apki concentration bhi bani rahegi aur bavishya ke liye notes prepare ho jayege.
-Koi bhi lesson kam se kam 3-4 times padhe.
-Ratne ki adat se bache, jobhi padhe uspar thoda vichar jarur kare.
-Short notes jarur banaye jaise wo exam ke time kaam aye.
-Padhe hue lesson par soche aur discuss kare apne friends ke sath, group discussion study mai jaruri hota hai.
-Old questions paper ke anusar important topic ko select karle aur unhe ache se prepare karle.
-Sahi food le kyuki jayda food khane se neend and alas ata hai, jabki kam food lene se padhne main man nhi lagta hai, aur thake hue, dimaag(brain) pain etc problems aa jati hai.
-Picture, map, graph etc ki help se study kare. Ye jayda time tak mind mai rehte hai.
-Study mai computer aur internet ki help le sakte hai.
Is trah se aap padhai main man laga sakta hai
Best of luck my dear friends

Exam Ki Tayari Kaise Kare : 10 tips


Exam Ki Tayari Kaise Kare : 10 tips
Exam Ki Tayari Kaise Kare – Hum agar saal bhar puri mehanat aur lagan ke saath padhte hai aur hamari mehnat hame dikhai na de hame us hisaab se number na mile to bahoot dukh hota hai ki aisa hamare saath hi kyun hota hai. Asal me ye jaydatar sabhi ke saath hota hai. Exam ka samay najdeek aate hi yuvaon ke dil ki dhadkan badhne lagti hai. Kitni hi mehnat ki ho, nervous ho jana aam baat hai.
Pariksha dene jao kuch Baaton Ka Dhyan rakho
Exam Ki Tayari Kaise Kare –
1:  Pariksha m Jate wakt free tension Jana Chahiye Mann Mein Kisi Prakar ka der nahi hona chahiye
2:  Pariksha dene jab bhi jaye to use 1 ghanta pehle kuch bhi na padhe apna dimag shant rakhe. Apne aapko hansi majak me us waqt vyast rakhe.
3:  Pariksha se pehle neend ka pura hona bahoot jaruri hai. Isliye neend puri karke hi jaaye na ki puri raat padhai karni hai.
4:  Jaane se pehle apne aapko fresh karke jaaye.
5:  Pariksha me aaye sare sawal ko ek baar achche se aur thande dimag se pura prashna padh le uske baad jo bhi aata hai uspar nishan lagle.
6:  Sabse pehle jo bhi prashna aapko aata hai use kare na ki dusre
7: prashna par apna samay barbad na kare.
8:Hamesha vo line hi likhe jiska matlab nikalata ho faltu ki line likh ke apana kimti waqt barbad na kare.
9:  Bhale aap chota utar likhe par uska matlab niklata ho vo hi kafi hai hai.
10:  questions ka answer Simha ko dhyan m rek kar hi answer de example Jaise Ek question kee Uttar Simha 100 word ki hi to 100 word Me hi answer de.
Is tarah ke kuch tips apna ke aap jarur ache number se pass honge.
Aapko ye article kaise laga niche comment me likhiye.
Best of luck my dear friends

Fruits vegetables and health in Hindi फल, सब्जियाँ तथा स्वास्थ्य




 केला

फल, सब्जियाँ तथा स्वास्थ्य  Fruits and health in Hindi

रक्तचाप नियन्त्रित रखता है, हड्डियों को मजबूती प्रदान करता है, हृदय को सुरक्षित रखता है, अतिसार में लाभकारी है, खाँसी रोधक है।
जामुनकेन्सर बचाव करता है, हृदय की सुरक्षा करता है, कब्ज दूर करता है, स्मरण शक्ति तेज करता है, रक्त शर्करा नियन्त्रित करता है, मधुमेह में अति लाभकारी है।
सेबहृदय को सुरक्षित रखता है, दस्त में लाभकारी होने के साथ ही कब्ज में भी फ़ायदेमंद है, फ़ेफ़डों को शक्तिशाली बढाता है।
चुकंदरमोटापा कम करता है, रक्तचाप नियंत्रित करता है, हड्डियों के क्षरण को रोकता है, केन्सर रोधक है, हृदय को सुरक्षित रखता है।
पत्ता गोभीबवासीर के लिए लाभदायक है, हृदय रोगों में लाभकारी है, कब्ज मिटाता है, मोटापा घटाने में सहायक है, केन्सर में लाभदायक है।
गाजरनेत्रों की ज्योति बढ़ाता है, केंसर रोधक है, मोटापा घटाने मेँ सहायक है, कब्ज मिटाता है, हृदय की सुरक्षा करता है।
फ़ूल गोभीहड्डियों को मजबूती प्रदान करता है, स्तन केंसर से बचाव करता है, प्रोस्टेट ग्रंथि के केंसर में भी उपयोगी है, चोंट,खरोंच ठीक करता है।
लहसुनकोलेस्ट्रॉल में कमी लाती है, ब्लडप्रेसर मे लाभदायक है, कीटाणुनाशक है, केंसर से लडती है।
नींबूत्वचा को मुलायम बनाता है, केंसर रोधक है, हृदय की सुरक्षा करता है, रक्तचाप नियंत्रित करता है, स्कर्वी रोग नाशक है।
अंगूररक्त प्रवाह बढ़ाता है, हृदय की सुरक्षा करता है, केंसर से लडता है, गुर्दे की पथरी नष्ट करता है, नेत्रों की ज्योति बढ़ाता है।
आमकेंसर रोधक है, थायराइड रोग में लाभदायक है, पाचन शक्ति बढाता है, स्मरणशक्ति बढ़ाता है।
प्याजफ़ंगस रोधी है, हार्ट अटेक के जोखिम को कम करता है, जीवाणु नाशक है, केंसर रोधी है, खराब कोलेस्ट्रॉल को कम करता है।
अलसी के बीजमानसिक शक्ति वर्धक है, रोग प्रतिकारक शक्ति को ताकत देता है, डायबीटीज में उपकारी है, हृदय की सुरक्षा करता है, पाचन शक्ति को ठीक करता है।
संतराहृदय की सुरक्षा करता है, रोग प्रतिकारक शक्ति उन्नत करता है, श्वसन पथ के विकारों में लाभकारी है, केंसर में हितकारी है।
टमाटरकोलेस्ट्रॉल कम करता है, प्रोस्टेट ग्रंथि के स्वास्थ्य के लिये लाभकारी है, केंसर से बचाव करता है, हृदय की सुरक्षा करता है।
पानीगुर्दे की पथरी नाशक है, वजन घटाने में सहायक है, केसर के विरुद्ध लडता है, त्वचा के चमक बढाता है।
अखरोटस्मरणशक्ति बढाता है, केंसर से लडता है, हृदय रोगों से बचाव करता है, कोलेस्ट्रॉल घटाने में सहायक है।
तरबूजस्ट्रोक रोकने में उपयोगी है, प्रोस्टेट के स्वास्थ्य के लियेओ हितकारी है, रक्तचाप घटाता है, मोटापा कम करने में सहायक है।
अंकुरित गेहूंबडी आंत की केंसर से लडता है, कब्ज प्रतिरोधक है, लू से रक्षा करता है, कोलेस्ट्रॉल कम करता है, पाचन सुधारता है।
चावलकिडनी स्टोन में हितकारी है, मधुमेह में लाभदायक है, लू से बचाव करता है, कैंसर से लडता है, हृदय की सुरक्षा करता है।
आलू बुखाराहृदय रोगों से बचाव करता है, बुढापा जल्द आने से रोकता है, याददाश्त बढाता है, कोलेस्टरोल घटाता है, कब्ज प्रतिकारक है।
अनानासदस्त रोकता है, मस्से ठीक करता है, ठंड से बचाव करता है, हड्डियों के क्षरण को रोकता है, पाचन सुधारता है।
जौ,जईकोलेस्ट्रॉल घटाता है, केंसर से लडता है, मधुमेह में लाभकारी है, कब्ज प्रतिरोधक है, त्वचा में चमक लाता है।
अंजीरब्लड प्रेसर नियंत्रित करता है, लू से बचाता है, कोलेस्ट्रॉल कम करता है, केंसर से लडता है, मोटापा घटाने में सहायक है।
शकरकंदनेत्रों की ज्योति बढाता है, हड्डियों को मजबूत बनाता है, केंसर से लडता है ।


indiamotivation.blogspot.com

Motivation सफलता पाने का जज्बा हमेशा जगाए रखेंगे

 फिल्मों के ऐसे Dialogue  जो आपको कहीं हिम्मत नहीं हारने देंगे और  सफलता पाने का जज्बा हमेशा जगाए रखेंगे: Sultan कोई तुम्हे तब तक नहीं हरा स...