Tuesday, 24 May 2016

Motivational Message from Sikandar जब महान सिकंदर की मृत्यु हुई ?


जब महान सिकंदर की मृत्यु हुई |

 Motivational Message from Sikandar

जब महान(Great) सिकंदर(Sikandar) की मृत्युDeath हुई । नगर के लाखों लोग रास्तों पर खडे हुए थे, उसकी अरथी की प्रतीक्षा कर रहे थे। अरथी महल से बाहर निकली । वह जो खडे हुए लाखों लोग थे, उन सबके मन में एक ही प्रश्न था, उन सब की बात में एक ही प्रश्न और जिज्ञासा पूरे नगर में फैल गई, बडे आश्चर्य की बात हो गई थी, ऐसा कभी नहीं हुआ था ।
अरथियां तो रोज निकलती होंगी, रोज कोई मरता है । लेकिन सिकंदर की अरथी निकली थी तो यह बात हो गई थी वह बडी अजीब थी । अरथी के बाहर सिकंदर के दोनों हाथ बाहर लटके हुए थे । हाथ तो भीतर होते हैं अरथी में । क्या कोई भूल हो गई थी, कि हाथ अरथी के बाहर लटके हुए थे ?
लेकिन सिकंदर की अरथी और भूल हो जाए यह भी संभव न था । और एक-दो लोग नहीं; सैकडों लोग महल से उस अरथी को लेकर आए थे । किसी को तो दिखाई पड गया होगा, हाथ बाहर निकले हुए हैं । सारा गांव पूछ रहा था कि हाथ बाहर क्यों निकले हुए हैं ? सांझ होते-होते लोगों को पता चला । सिकंदर ने मरते वक्त कहा था, मेरे हाथ अरथी के भीतर मत करना । सिकंदर ने चाहा था,
उसके हाथ अरथी के बाहर रहें ताकि सारा नगर यह देख ले कि उसके हाथ भी खाली हैं । हाथ तो सभी के खाली होते हैं मरते वक्त, उनके भी जिनको हम सिकंदर जानते हैं उनके हाथ भी खाली होते हैं । लेकिन सिकंदर को यह खयाल, उसके खाली हाथ लोग देख लें जिसने दुनिया जितनी चाही थी, जिसने अपने हाथ में सब कुछ भर लेना चाहा था, वह हाथ भी खाली हैं, यह दुनिया देख लें ।
सिकंदर को मरे हुए बहुत दिन हो गए । लेकिन शायद ही कोई आदमी अब तक देख पाया है कि सिकंदर के हाथ भी खाली हैं । और हम सब भी छोटे-मोटे सिकंदर हैं और हम सब भी हाथों को भरने में लगे हैं । लेकिन आज तक कोई भी जीवन के अंत में क्या भरे हुए हाथों को पा सका है ।
अधिकतम लोग असफल मरते हैं । यह हो सकता है कि उन्होंने बडी सफलताएं पाई हों संसार में, यह हो सकता है उन्होंने बहुत यश और धन पाया हो । लेकिन फिर भी असफल मरते हैं क्योंकि हाथ खाली होते हैं मरते वक्त । भिखारी ही खाली हाथ नहीं मरते, सम्राट भी खाली हाथ ही मरते हैं । तो फिर यह सारी जिंदगी का श्रम कहां जाता है ? अगर सारे जीवन का श्रम भी संपदा न बन पाये और भीतर एक पूर्णता न ला पाये तो क्या हम रेत पर महल बनाते रहते हैं, या पानी पर लकीरें खींचते रहे हैं, या सपने देखते रहते है और समय गंवाते रहते है |
Moral  दोस्तों एक बात याद रखो कभी भी किसी का दिल मत दुखाओ और मोह माया के जाल में मत फंसो यह सब कुछ यहीं रहने वाला है अच्छे कर्म करो क्योंकि हमारी अच्छाइयां ही हमारे साथ होती है धन दौलत
सब यहीं रह जाते हैं|

www.indiamotivation.in
                            Story sikandar Hindi

No comments:

Motivation सफलता पाने का जज्बा हमेशा जगाए रखेंगे

 फिल्मों के ऐसे Dialogue  जो आपको कहीं हिम्मत नहीं हारने देंगे और  सफलता पाने का जज्बा हमेशा जगाए रखेंगे: Sultan कोई तुम्हे तब तक नहीं हरा स...